UP Viklang Pension Yojana In Hindi

UP Viklang Pension Yojana In Hindi [ एप्लीकेशन फॉर्म ] Apply

UP Viklang Pension Yojana In Hindi, UP Viklang Pension Yojana, Uttar Pradesh Viklang Pension Yojana 2019 , उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना 2019, Viklang Pension Yojana UP 2019, विकलांग पेंशन योजना उत्तर प्रदेश, उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना

दोस्तों आज हम आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के विकलांग लोगों के लिए विकलांग पेंशन योजना की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा की गई है इस योजना के तहत राज्य के विकलांग लोगों को अब 1000 रुपए प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी | इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य राज्य के विकलांग लोगों को आत्मनिर्भर साथ ही साथ उन्हें यह भी अनुभव करवाना है कि उनके साथ राज्य सरकार खड़ी है | राज्य के विकलांग लोग अपने आप को किसी पर बोझ ना समझे बस इसी एक उद्देश्य के कारण उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना की शुरुआत की गई है |

UP Viklang Pension Yojana In Hindi

Updated On 06/05/2019

Uttar Pradesh state govt. launched a new that named as “Uttar Pradesh Viklang Pension Yojana”. Under this scheme candidates of state Uttar pradesh can avail the benefits. This scheme launched by Chief Minister Yogi Adityanath ji. Here we provide latest and updated information through which you can avail the benefits.

दोस्तों उत्तर प्रदेश के नागरिक जो कि विकलांग है और उनके पास 40% या उससे भी अधिक विकलांगता का प्रमाण पत्र है इस योजना के तहत विकलांग पेंशन प्राप्त कर सकते हैं | राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विकलांग पेंशन योजना को शुरू करते हुए कहा कि राज्य के विकलांग लोग अपने आप को अकेला न समझे क्योंकि राज्य सरकार उनके साथ खड़ी है उन्होंने यह भी कहा अगर कोई 40% या उससे भी अधिक विकलांग है तो वह मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर के पास जाकर विकलांगता प्रमाण पत्र इस योजना का लाभ ले सकता है |

  • योजना का नाम – विकलांग पेंशन योजना
  • किसने शुरू की – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
  • योजना के लाभार्थी – राज्य के विकलांग लोग
  • कितनी पेंशन दी जाएगी – 1000 रुपए प्रतिमाह
  • विकलांग पेंशन योजना के लिए जरूरी योग्यता

स्थाई निवासी – योजना का लाभ लेने वाला विकलांग व्यक्ति उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए |

विकलांग – योजना का लाभ लेने वाले विकलांग व्यक्ति के पास 40% या उससे भी अधिक किसी भी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा द्वारा प्रस्तावित विकलांगता प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है |

सरकारी नौकरी – विकलांग पेंशन योजना का लाभ केवल लोगों को मिलेगा जिनके पास कोई भी सरकारी नौकरियां कोई भी अन्य सरकारी पेंशन नहीं हो |

पारिवारिक आय – योजना का लाभ लेने वाले विकलांग व्यक्ति की पारिवारिक ₹1000 से अधिक नहीं होनी चाहिए |

विकलांग पेंशन योजना के लाभ

आत्मनिर्भर – इस योजना को को शुरू करके राज्य सरकार राज्य के विकलांग लोगों को आत्मनिर्भर बनाना चाहती है |

पेंशन – इस योजना के शुरू हो जाने पर राज्य के विकलांग लोगों को आय का एक संसाधन मिलेगा जो कि टेंशन के तौर पर होगा |

गरीबी रेखा – इस योजना के तहत राज्य के गरीब विकलांग लोग गरीबी रेखा से ऊपर उठेंगे |

योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • विकलांग व्यक्ति आधार कार्ड होना अनिवार्य है |
  • उत्तर प्रदेश का स्थाई निवास प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है |
  • योग्य उम्मीदवार अपनी आय का प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है |
  • विकलांगता प्रमाण पत्र

इन सभी दस्तावेजों के आधार पर आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं |

उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना भुगतान की प्रक्रिया

  • छह छह माह की दो किस्तों में आपको विकलांग पेंशन योजना का लाभ मिलेगा |
  • प्रथम किस्त अप्रैल से सितंबर महीने की होगी |
  • दूसरी किस्त अक्टूबर महीने से 5 महीने तक की होगी |

विकलांग पेंशन योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन

इस योजना का लाभ लेने के लिए यहां पर क्लिक करें |

UP Viklang Pension Yojana In Hindi
UP Viklang Pension Yojana In Hindi

क्लिक करने के बाद आपको विकलांग पेंशन योजना का एक लिंक

प्राप्त होगा |

UP Viklang Pension Yojana In Hindi

उस पर क्लिक कर दीजिए |

इसके पश्चात आपको एक एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा |

UP Viklang Pension Yojana In Hindi
UP Viklang Pension Yojana In Hindi

वहां पर पहुंची हुई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद उसे दीजिए |

इसके साथ आपको अपने जरूरी आपको अपने जुड़े दस्तावेज भी अटैच करने होंगे |

इसके बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक कर दीजिए |

दोस्तों आज हमने आपको उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना के बारे में जानकारी दी

 |आपको यह जानकारी कैसी लगी योजना से जुड़े कोई भी पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का अवश्य ही देंगे धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *