राजस्थान पालनहार योजना

[ फॉर्म ] राजस्थान पालनहार योजना 2019-20 | ऑनलाइन आवेदन

पालनहार योजना राजस्थान 2019 ऑनलाइन आवेदन, Rajasthan Palanhar Yojana 2019, Palanhar Yojana Rajasthan Application Form, राजस्थान में पालनहार योजना

दोस्तों आज हम आपको राजस्थान सरकार की योजना पालनहार योजना के बारे में बताने जा रहे हैं इस आर्टिकल के माध्यम  से आपको यह बताएंगे कि किस प्रकार आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं और किस तरह आवेदन करके योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए हुए हमारे इस आर्टिकल को आप ध्यान पूर्वक पढ़ लीजिए |

राजस्थान पालनहार योजना

Updated On 13.07.2019-

राजस्थान राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा पालनहार योजना की शुरुआत की गई थी इस योजना के तहत अनाथ बच्चों के कल्याण के लिए उन्हीं के परिवार के लोगों को पालना हार बनाकर उनकी देखभाल का जिम्मा प्रदान किया जाता है | इसके लिए बच्चे के परिवारजनों को सरकार द्वारा बच्चे के जीवन यापन के लिए सहायता राशि प्रदान की जाती है | इस योजना का लाभ मृत्युदंड माता-पिता जीवन कैद पाने वाले बच्चे तथा राज्य की अनाथ बच्चे ले सकते हैं | यह एक अनूठी योजना है जिसके तहत राज्य के उन बच्चों को परिवार जैसा माहौल प्रदान किया जाएगा जिनके पास अपना परिवार नहीं है |

राजस्थान पालनहार योजना को शुरू करने का उद्देश्य अनाथ बच्चों के पालन पोषण करना है राज्य के अनाथ बच्चों को उनके निकटतम रिश्तेदार परिचित व्यक्ति के परिवार में रहने के लिए इच्छुक व्यक्ति को पालना बनाकर राज्य की तरफ से की ओर से उसे पारिवारिक माहौल शिक्षा भोजन वस्त्र एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाना है | इस प्रकार द्वारा चलाई जा रही योजना पूरे भारतवर्ष में अनूठी एवं नई योज |ना है योजना का लाभ अनाथ बच्चे न्यायिक प्रक्रिया में मृत्युदंड आजीवन कारावास प्राप्त माता पिता की संतान, अन्य प्रकार के कानूनी प्रक्रिया में फंसे हुए माता पिता के बच्चे एड्स पीड़ित माता पिता की संतान कुष्ठरोग माता पिता की संतान तलाकशुदा महिला की संतान इस योजना का लाभ ले सकते हैं | योजना को शुरू करने का उद्देश्य राज्य के अनाथ बच्चों को पारिवारिक माहौल प्रदान करना है |

राजस्थान पालनहार योजना
राजस्थान पालनहार योजना

दोस्तों राजस्थान की पुरानी सरकार यानी की वसुंधरा राजे द्वारा पालनहार योजना की शुरुआत की गई थी इस योजना के तहत बच्चों के पालन-पोषण उनके खाने-पीने की व्यवस्था के लिए उनके रिश्तेदार आदि को इन के पालनहार बनाकर उनको पारिवारिक माहौल पैदा करवाना था राज्य सरकार की इस योजना से उन्हें शिक्षा की व्यवस्था खाने-पीने की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की जाएगी |

इस योजना के तहत राजस्थान सरकार बच्चों के पालन-पोषण के लिए रुपए मुहैया करवाएगी | इस योजना का लाभ राज्य की विधवा महिलाओं एवं अन्य महिलाओं के बच्चों को मिलेगा जो किसी कारणवश या तो उनके साथ नहीं है या फिर वह मर चुकी है राज्य के इन बच्चों को अपने माता पिता की बस इसी एकमात्र मुख्य उद्देश्य के कारण पालनहार योजना की शुरुआत की गई है |

  • योजना का नाम – पालनहार योजना राजस्थान
  • किसके द्वारा शुरू की गई योजना – पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे
  • किस राज्य में शुरू की गई योजना – राजस्थान
  • योजना का लाभ – अनाथ बच्चों को
  • योजना के लिए टोल फ्री नंबर – 1800-180-6088

पालनहार योजना राजस्थान

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा योजना को शुरू करने के बाद उन्होंने यह कहा था कि इस योजना को शुरू करने का एकमात्र मुख्य उद्देश्य इन बच्चों को घर जैसा माहौल देना है | ताकि कल को वह पढ़ लिख कर आत्मनिर्भर बनें मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने यह भी कहा था कि राज्य सरकार का उद्देश्य है |कि इन बच्चों को शिक्षा दी जाए और फिर आत्मनिर्भर बनकर वह राजस्थान का बेहतर भविष्य बनाने में अपना योगदान दें राज्य के अनाथ बच्चों को घर जैसा माहौल मिल सके बस इसी एकमात्र मुख्य उद्देश्य के कारण इस योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा की गई थी |

RAJASTHAN GOVERNMENT SCHEME 2019-20

योजना के लिए योग्यता

अनाथ – इस योजना का लाभ केवल राज्य के अनाथ बच्चों को ही मिलेगा |

माता पिता जेल में – योजना का लाभ बच्चों को भी मिलेगा जिनके माता-पिता तो या फिर आजीवन कारावास भुगत रहे हैं |

एड्स पीड़ित – योजना का लाभ उन बच्चों को दिए जाएगा जिनके माता-पिता एड्स पीड़ित है |

विधवा महिलाएं – योजना के अंतर्गत विधवा माता की अधिकतम 3 बच्चे इस योजना का लाभ ले सकते हैं |

कुष्ठ रोग पीड़ित – कुष्ठ रोग पीड़ित माता पिता के बच्चे इस योजना का लाभ ले सकते हैं |

तलाकशुदा महिला – तलाकशुदा महिला के बच्चे भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं |

योजना के लिए जरूरी योग्यता

वार्षिक आय – योजना का लाभ लेने वाले पालनहार की वार्षिक आय ₹120000 से ऊपर नहीं होनी चाहिए |

आंगनवाड़ी केंद्र –  योजना का लाभ के बच्चों को दिए जाएगा जो 2 वर्ष की आयु से आंगनवाड़ी केंद्र रहे हैं |

स्कूल में पढ़ने वाले – जब बच्चा 6 वर्ष का हो जाएगा तो उसे स्कूल भेजना अनिवार्य है |

राजस्थान पालनहार योजना के लाभ

योजना के तहत अनाथ बच्चे को 5 वर्ष रुपए प्रतिमा दिए जाएंगे |

6 वर्ष की आयु पर स्कूल में दाखिला लेने के बाद जब बच्चा 18 वर्ष तक हो जाएगा तब उसे हजार रुपए प्रतिमा दिए जाएंगे |

योजना के तहत उसके कपड़े जूते सोने खाने पीने के लिए अलग से ₹2000 की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की जाएगी |

पालनहार योजना ऑनलाइन आवेदन

इस योजना का लाभ लेने के लिए यहां पर क्लिक करें |

क्लिक करने के बाद आपको पालनहार योजना की वेबसाइट पर जाना है |

वहां पर आपको एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म प्राप्त होगा उसमें पूछो की जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद भर दीजिए |

यदि आप शहरी क्षेत्र से है तो आप जिलाधिकारी के पास अपना फॉर्म जमा करवा सकते हैं |

अगर आप ग्रामीण क्षेत्र से संबंध रखते हैं तो आप संबंधित विकास अधिकारी के पास अपने दस्तावेज जमा करवा सकते हैं |

इस तरह आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं |

दोस्तों आज हमने आपको राजस्थान सरकार की एक नई योजना “राजस्थान पालनहार योजना” के बारे में बताया आपको यह जानकारी कैसी लगी | योजना से जुड़े कोई भी प्रश्न आप हमसे पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का अवश्य ही उत्तर देंगे धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *